How to find Multibagger Stocks ? मल्टीबैगर स्टॉक्स कैसे ढूंढे? 

multibagger stock

 हम सभी Multibagger stocks/मल्टीबैगर स्टॉक अपने पोर्टफोलियो में चाहते हैं ताकि जल्द से जल्द हमारा पैसा 2 गुना 3 गुना या उससे ज्यादा हो जा जाए|

Table of Contents

 ज्यादातर कंपनियां दो तरीके से काम करती हैं:-

  1.  अपना मार्जिन कम रखती है और सेल्स ज्यादा करती है|  जैसे Maruti Suzuki
  2.  अपना मार्जिन ज्यादा रखती है और सेल्स कम करती  है|  जैसे Mercedes
  3. ऐसी कंपनियां जो अपना मार्जिन भी ज्यादा  रखती हैं, और सेल्स भी ज्यादा कर पाती हैं ऐसी कंपनियां  अक्सर मल्टीबैगर बन जाती है|  जैसे Page Industries

मल्टीबैगर स्टॉक ढूंढते समय हमें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए| Tips For Finding Multibagger Stocks

1. Fast Growing Companies/वह एक  ग्रोथ  स्टॉक होना चाहिए

 ऐसी कंपनियां जो भविष्य में तेजी से Growth दिखा सकती हैं, ऐसी कंपनियां मल्टीबैगर भी बन सकती है| ग्रोथ का मतलब है की कंपनी की पेनिट्रेशन अभी कम है, उसका रेवेन्यू अभी भारत के कुछ ही क्षेत्रों से आ रहा है| जब यह कंपनी पूरे देश में फैल जाएगी तब इसका रेवेन्यू भी बढ़ेगा, प्रॉफिट भी बढ़ेगा और शेयर प्राइस भी बढ़ेगी|

 उदाहरण- एवेन्यू सुपरमार्ट्स/Avenue Sopermarts Ltd. अभी सिर्फ 10  भारतीय राज्य तक फैला है| एवेन्यू सुपरमार्ट्स के स्टोर्स पूरे भारत में खुल जाएंगे तो हम समझ सकते हैं कि उसका रेवेन्यू और कितना बढ़ेगा|

2. New Products/नए प्रोडक्ट

  क्या कंपनी और उसकी मैनेजमेंट इस काबिल है कि वह नए-नए प्रोडक्ट्स मार्केट में समय-समय पर लांच कर पाए| नए प्रोडक्ट आने से हमेशा ही कंपनी की सेल और मार्जिन बढ़ते हैं| उदाहरण – हिंदुस्तान युनिलीवर लिमिटेड बाजार में अक्सर नए-नए प्रोडक्ट लाती रहती है| एक साधारण हैंड वॉच से शुरू करके, उसी हैंडवाश में कई कई वेरिएंट्स ले आती है| इससे कस्टमर को वैरायटी मिलती है और कंपनी सेल्स बढ़ती है| COVID 19  बहुत सारी कंपनियों ने Immunity Booster Kits निकाली जिससे उनकी Sales कई गुना बढ़ी|

3. Research and development /  रिसर्च और डेवलपमेंट

कंपनी अपने प्रोडक्ट की रिसर्च और डेवलपमेंट में कितना ध्यान देती है यह भी एक जरूरी मापदंड है| नए-नए प्रोडक्ट्स बनाना, और पहले से आने वाले प्रोडक्ट्स में सुधार लाना, यह कंपनी की रिसर्च एंड डेवलपमेंट टीम का काम होता है| अगर कंपनी अच्छी रिसर्च से अपने प्रोडक्ट  मैं बदलाव लाती है तो वह कंपनी एक योग्य कंपनी है|

4.  Organisation and Marketing/ऑर्गेनाइजेशन एंड मार्केटिंग

 किसी भी कंपनी को अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए मार्केटिंग (Marketing)करनी पड़ती है| मार्केटिंग एक अत्यंत एक्सपेंस(Expense) होता है, जिससे बुद्धिमता के अनुसार कम और ज्यादा किया जा सकता है| यदि बड़े-बड़े नाम बड़े-बड़े अभिनेता किसी कंपनी का विज्ञापन कर रहे हैं, वहां निश्चित तौर पर मार्केटिंग एक्सपेंस बहुत ज्यादा होता है| कुछ कंपनियां ऐसी होती है, जो बहुत कम खर्चे में अच्छी मार्केटिंग कर अपने प्रोडक्ट को बेच पाती हैं| जितनी कम Marketing Cost होगी उतना ही ज्यादा मुनाफा भी होगा|

5.  Profit Margin/प्रॉफिट मार्जिन

 यह भी एक बहुत बड़ा मापदंड है| एक प्रोडक्ट को बनाने, उसकी मार्केटिंग करने और उसे बेचने के बाद कंपनी के पास कितना Margin बचता है यह कंपनी की एफिशिएंसी को दिखाता है| कुछ कंपनियां 5 से 10% के मार्जिन पर काम करती हैं, मतलब Rs100  का सामान बनाया और Rs 110  का बेच दिया| कंपनी का जितना ज्यादा मार्जन होगा, उतनी ही कंपनी ज्यादा मुनाफा कमा पाएगी|

उदाहरण- Nestle  जैसी कंपनियां अपने बेबी फूड जो बहुत ही कम लागत में बनते हैं उन्हें दुगने दाम पर भी  बेच पाती है| कंपनी का प्रॉफिट मार्जिन काफी ज्यादा है और कंपनी का एक बड़ा ब्रांड है| बड़े ब्रांड की कंपनियां अक्सर बड़े प्रॉफिट मार्जिन पर काम करती है|

6.  Competitive Edge/ MOAT 

कंपनी के पास अपने Competitors के मुकाबले ऐसी क्या कॉम्पिटेटिव एज है जिसकी वजह से वह हमेशा ही अपने Competitor को पीछे छोड़ सकती है| कंपनी का प्रोडक्ट(Product), लो कॉस्ट(Low Cost), ब्रांड, यह सभी MOAT है| उदाहरण के लिए Pidilite  कंपनी के फेविकोल(Fevicol) को तो हम सभी जानते हैं,  जब भी हम बाजार मैं Glue खरीदने जाते हैं तो सिर्फ फेविकोल ही लेकर आते हैं|

7. Cost analysis and accounting/एक अच्छी बैलेंस शीट 

एक निवेशक के लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि अपने बनाए हुए प्रॉफिट से वह  कंपनी क्या कर रही  है| क्या  वह कंपनी इस प्रॉफिट का इस्तेमाल एक्सपेंशन(Expansion) के लिए कर रही है,  किसी दूसरी कंपनी Acquire कर रही है, अपने ही Shares को Buy Back कर रही है, या डिविडेंड के तौर पर बांट रही है|  यह जानना भी जरूरी है कि यदि कंपनी को Expand  करना है तो उसके लिए उसे लोन की आवश्यकता पड़ेगी या वह यह काम अपने जमा किए हुए पैसों से कर सकती हैं|

8. Management Pedigree/मैनेजमेंट

  कंपनी के पास मैनेजमेंट में एक अच्छी टीम होनी चाहिए जिसका बैकग्राउंड साफ हो|  मैनेजमेंट किसी भी Scam या कोर्ट केसेस मैं  ना हो|  मैनेजमेंट का इरादा कंपनी कोआगे बढ़ाने का हो| कंपनी के पास एक अच्छी मैनेजमेंट टीम होनी चाहिए उसे कोई एक आदमी ना  संभाल रहा हो|  जैसे Tesla  मैं Elon Musk और Reliance  मैं Mukesh Ambani. यदि यह कंपनी को छोड़कर चले जाएं या इन्हें कुछ हो जाए तो कंपनी का क्या होगा? इस डर के मारे कंपनी के शेयर तेजी से गिर सकते हैं|

9. Promoter’s Holding/प्रमोटर होल्डिंग

 हमें ध्यान देना चाहिए की ऐसी कंपनियों में प्रमोटर की होल्डिंग कम से कम 50%  जरूर हो | जब भी Promoter की होल्डिंग 50% से ज्यादा होगी तो Promoter जरूर कंपनी को आगे बढ़ाने में काम जरूर करेगा| Skin in the game होना जरूरी है|

10. Debt Free/कर्जा मुक्ति

 यह जरूरी है कि कंपनी के ऊपर बहुत ही कम या ना के बराबर कर्जा हो| ज्यादा  कर्ज वाली कंपनी में निवेश करना Risky  हो सकता है| 

11. Sales and Profit Growth

ऐसी कंपनियां जिन्होंने हर साल अपनी सेल्स और प्रॉफिट मैं बढ़त दिखाई है| 

  मल्टीबैगर स्टॉक ढूंढने के लिए स्क्रीन| Multibagger Screen

हमने यह बातें तो जान ली जिन पर ध्यान देना जरूरी है, अब सवाल उठता है कि इतनी सारी कंपनियों में से ऐसी कंपनी किस प्रकार ढूंढ सकते हैं|  इसके लिए हमें एक screener का इस्तेमाल करना  पड़ेगा| आप सभी Screener.in  का इस्तेमाल कर सकते हैं |मैं उदाहरण के लिए एक स्क्रीन बताती हूं|

  1. Market Capitalization <44000 cr. 
  2. ROCE>20%
  3. Average ROCE for 10 Years >20%
  4. Profit Growth for 10 Years >10%
  5. Sales Growth for 10 Years>10%
  6. Promoters Holding >50%
  7. Debt to equity <0.1
Multibagger stock Screen
Example of How to Create Screen for searching multibagger. Credit :- www.screener.in

स्क्रीन लगाने के बाद आपके पास उन कंपनियों की लिस्ट आ जाएगी  जोकि

  1. Mid Cap या Small Cap  है
  2.  जिनके प्रॉफिट मार्जिन 20% से ज्यादा है
  3.  जिन कंपनियों ने 10 सालों तक अच्छा प्रॉफिट मार्जिन कमाया है
  4.  इन कंपनियों में लगातार 10 सालों से प्रॉफिट और शेष में बड़ा दिखाइए
  5.  कंपनी की 50% से ज्यादा होल्डिंग उसके प्रमोटर्स के पास है 
  6.  और कंपनी के पास बहुत ही कम  कर्जा है 

इस तरह आप भी अपनी जरूरत के अनुसार Screen Create  कर सकते हैं और अच्छी कंपनियों की लिस्ट निकाल सकते हैं  जिनमें मल्टीबैगर बनने के गुण हैं|

बात यहीं खत्म नहीं हो जाती है,  हमें उन कंपनियों की Annual reports  और Concalls  भी पढ़नी पड़ेगी जिससे हम कंपनी की भविष्य की योजनाओं के बारे में पता लगा पाएंगे|

मल्टीबैगर स्टॉक ढूंढना एक मुश्किल काम है, ऊपर दिए गए Steps  सिर्फ एक कोशिश है| आप अपने हिसाब से ऊपर दिए गए Screen Parameters  को चाहे बदल भी सकते हैं| 

सिर्फ एक अच्छी कंपनी मिलना जोकि मल्टीबैगर बनने की क्षमता रखती है  काफी नहीं है,  सही समय पर निवेश करना और एक लंबी अवधि के लिए उसे होल्ड करना भी जरूरी है|

Frequently Asked Questions

हम अपने पोर्टफोलियो का कितना हिस्सा मल्टीबैगर स्टॉक  मैं निवेश के लिए रखें?

यह एक जोखिम भरा काम है जिसमें हमारा पैसा दुगना  या तिगुना हो सकता है, और खत्म भी हो सकता है| ऐसे stocks बढ़ती मार्केट में बहुत ज्यादा बढ़ते हैं, और गिरती मार्केट में बहुत ज्यादा गिरते भी हैं| इसीलिए हमें चाहिए कि हम अपने पोर्टफोलियो का ज्यादा से ज्यादा 20% हिस्सा मल्टीबैगर स्टॉक के लिए रखें|

2022 तक कौन सी कंपनियां मल्टीबैगर साबित हुई है?

TCS, Asian Paints, Divi’s Labortories,  Hindustan Unileverऐसी बहुत सारी कंपनियां, पिछले 10 सालों में मल्टीबैगर रिटर्न दे चुकी  है|

2022 मैं किन कंपनियों में निवेश कर हम मल्टीबैगर रिटर्न  पा सकते हैं|

Gillette, Vaibhav Global, Lux Industries, Gland Pharma जैसी कंपनियों में निवेश कर हम मल्टीबैगर रिटर्न पा सकते हैं|

इन मल्टीबैगर स्टॉक्स के बारे में जानने के लिए पढ़ें

Lux Industries

Vaibhav Global

Zomato

Gland Pharma

Zerodha

Use the link to open a Demat account in Zerodha

Books on Investing

Rich Dad Poor Dad: What the Rich Teach Their Kids About Money That the Poor and Middle Class Do Not!

Rich Dad Poor Dad: What the Rich Teach Their Kids About Money That the Poor and Middle Class Do Not!

Learn to Earn: A Beginner's Guide to the Basics of Investing and Business

Learn to Earn: A Beginner’s Guide to the Basics of Investing and Business

one wall up wall street

One Up On Wall Street: How to Use What You Already Know to Make Money in the Market

The intelligent Investor

The Intelligent Investor

Disclaimer- All investments and trading in the stock market involve risk. Any decision to place a trade in the financial markets, including trading in stock should only be made after thorough research. Trading strategies or related information mentioned in the article is for informational purposes only. Use your due diligence before investing.

शेयर बाजार में पैसे लगाना रिस्की होता है. इसमें रिटर्न मिलने की कोई गारंटी नहीं होती है. ऊपर बताए गए स्टॉक्स सिर्फ जानकारी प्रदान करने के लिए हैं. इन्हें निवेश के लिए सुझाव नहीं समझा जाना चाहिए. स्टॉक मार्केट में पैसे लगाने से पहले आप खुद से रिसर्च जरूर करें या अपने पर्सनल फाइनेंस एडवाइजर की सलाह लें .खासकर पेनी स्टॉक्स में पैसे लगाने से पहले अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत होती है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *